हनुमानगढ़: पल्लू कस्बे के स्थानीय कम्प्यूटर सेन्टर माइक्रोसिस इंफोटेक एजुकेशन इंस्टीट्यूट में आज राजस्थान सरकार की “इंदिरा महिला शक्ति प्रशिक्षण व कौशल संवर्धन योजना” के तहत महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित एवं आर.के.सी. एल. के तत्वावधान में संचालित निःशुल्क आर एस-सी आई टी महिला बैच का उद्घाटन किया गया। इस मौके पर जनप्रतिनिधियों के रूप में पल्लू ग्राम पंचायत सरपंच सुनीता देवकीनंदन जोशी, जिला परिषद सदस्य गौरीशंकर थोरी, यूथ कांग्रेस नोहर विधानसभा अध्यक्ष देवकीनंदन जोशी, महाराणा प्रताप स्कूल के निदेशक विनोद कुमार बाना व लिटिल एंजल कॉन्वेंट स्कूल की निदेशक शाहिना मकसूद खान ने फीता काटकर उद्घाटन की रस्म अदायगी की।

सभी चयनित बालिकाओं को पाठ्यक्रम की निःशुल्क पुस्तकें भी वितरित की गई।

सेन्टर संचालक हसन रज़ा ने बताया कि उनके सेंटर पर यह निःशुल्क आर एस-सी आई टी कोर्स पिछले पांच सालों से हर साल करवाया जाता है,
सीटों का चयन मैरिट के आधार पर तथा आरक्षणवार होता है, इनका चयन महिला एवं बाल विकास विभाग करता है, इस बार निःशुल्क बैच में 28 बालिकाओं के चयन हुआ है।
सेंटर में पिछले पांच सालों में 65 से अधिक बालिकाओं व महिलाओं को यह निःशुल्क कोर्स करवाया गया है। यह कोर्स राजस्थान सरकार की किसी भी सरकारी नौकरी के लिए एक अनिवार्य योग्यता में भी शामिल है।

इसके अलावा सेंटर पर राज्य सरकार द्वारा तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने वाली योजनाओं का किर्यान्वन किया जाता है, राजस्थान सरकार की डिजिटल ई-सखी योजना में भी सेंटर पर लगभग 280 बालिकाओं को तकनीकी रूप से प्रशिक्षित किया गया था।


इस मौके पर पल्लू सरपंच सुनीता देवकीनंदन जोशी ने बालिकाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा यह निःशुल्क प्रशिक्षण करवाया जा रहा है, इसमें आप नियमित रूप से कक्षाएं लेकर आप तकनीकी ज्ञान बढ़ाएं, आज के डिजिटल युग में महिलाओं को भी कंप्यूटर शिक्षित होकर रोजगार के अवसर तलाशने चाहिए।
जिला परिषद गौरीशंकर थोरी ने कहा कि राजस्थान सरकार द्वारा संचालित यह कोर्स महिलाओं और बालिकाओं को डिजिटल साक्षर करने में मदद करेगा, उन्होंने राज्य सरकार को धन्यवाद देते हुए कहा कि ऐसे कोर्स ज्यादा से ज्यादा शुरू करवाएं जाएं जिससे महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिले।
देवकीनंदन जोशी ने कोर्स के लिए चयनित बालिकाओं को निःशुल्क कोर्स में चयन होने पर बधाई देते हुए कहा कि आज कम्प्यूटर शिक्षा के बिना बुनियादी शिक्षा को शसक्त नहीं किया जा सकता, इसीलिए आज के डिजिटल युग में कंप्यूटर साक्षरता को बल मिलना चाहिए।
कार्यक्रम में वेदप्रकाश, वेद प्रकाश, पवन कुमार, महेंद्र, अम्बिका जोशी व ममता देवी मौजूद रहे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें