विधायक कोष से बड़ी राशि की अनुशंसा, ताकि कोई भूखा ना सोए। अब तक दिये 48 लाख

32

👉कोरोना संकट में नोहर विधायक अमित चाचाण ने जरूरतमंदों के लिए खोला विधायक कोष, अब तक दे चुके 48 लाख रूपए ।👈

एक महीने की सैलरी भी नोहर विधायक ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में करवाई जमा ।

नरेश स्वामी पल्लू @ भारत मंच

नोहर / हनुमानगढ़ । कोरोना संक्रमण को रोकने को लेकर सरकार द्वारा लागू किए लॉकडाउन में कोई व्यक्ति भूखा ना सोए। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की इस मंशा को साकार करते हुए नोहर विधायक अमित चाचाण ने जरूरतमंदों के लिए विधायक कोष ही खोल दिया है।

चाचाण ने विधायक कोष से कुल 48 लाख रूपए जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करवाना दिए हैं। इसके अलावा एक महीने की सैलरी 40 हजार रूपए भी मुख्मयंत्री सहायता कोष में जमा करवा चुके हैं। चाचाण ने शनिवार को जिला कलक्टर जाकिर हुसैन को पत्र लिखकर विधायक कोष से कुल 30 लाख रूपए जरूरतमंदों को खाने के पैकेट और खाद्य सामग्री हेतु अभिशंसा की। जिसमें नोहर के शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के लिए दस-दस लाख रूपए और रावतसर पंचायत समिति के अंतर्गत पल्लू क्षेत्र की 14 ग्राम पंचायतों के जरूरतमंद लोगों के लिए 10 लाख रूपए की अनुशंसा की गई है।

सीईओ जिला परिषद परशुराम धानका ने बताया कि इससे पहले नोहर विधायक चाचाण विधायक कोष से 18 लाख रूपए कोरोना संकट के मद्देनजर स्वास्थ्य उपकरण खरीदने और जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध करवाने को लेकर दे चुके हैं। जिसमें 23 मार्च को 1 लाख रूपए नोहर सीएचसी में मास्क और सैनेटाइजर खरीद के लिए, 29 मार्च को 5 लाख रूपए नोहर चिकित्सालय में जांच, परीक्षण और अन्य सुविधाएं के लिए, 29 मार्च को ही 5-5 लाख रूपए नोहर के शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के जरूरतमंद लोगों के लिए खाने के पैकेट और खाद्य सामग्री देने के लिए दे चुके हैं। उसके बाद 1 अप्रैल को जिला चिकित्सालय में चिकित्सा उपकरण और रखरखाव व विस्तार के लिए दो लाख रूपए विधायक कोष से दिए।

कुल मिलाकर कोरोना संकट को देखते हुए नोहर विधायक अमित चाचाण विधायक कोष से अब तक 48 लाख रूपए और अपनी एक महीने की 40 हजार की सैलरी मुख्यमंत्री सहायता कोष में दे चुके हैं।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें