हनुमानगढ़ जिला कलक्टर ने पत्रकार वार्ता में बताये कोरोना महामारी से बचाव के उपाय, जागरूकता जरूरी, नियमों का पालन करें ।

49

कोरोना को लेकर लोगों को जागरूक करने की जरूरत ताकि लोगों में भय व्याप्त ना हो, मीडिया अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाए – ज़िला कलक्टर

कोरोना वायरस को लेकर जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस

मीडियाकर्मी प्रशासन के साथ साझा करे महत्वपूर्ण जानकारी

हनुमानगढ़, 19 मार्च। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन ने गुरूवार को जिला परिषद सभागार में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर आगे आने वाले कुछ दिन अति महत्वपूर्ण है। मीडिया को कहीं कोई संदिग्ध मरीज की जानकारी मिले या किसी विदेश से आए व्यक्ति की जानकारी मिले तो वो प्रशासन के साथ साझा करे। कोई भ्रामक समाचार मिले तो प्रशासन से जितना जल्दी कंफर्म कर सके, करे ताकि लोगों में भय का माहौल उत्पन्न ना हो। इसको लेकर जिला कलक्टर ने पत्रकारों और प्रशासनिक अधिकारियों का एक वाट्सअप ग्रुप भी बनाने के निर्देश जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी को दिए। जिला कलक्टर ने मीडिया कर्मियों से कहा कि जिले में भी धारा 144 लागू कर दी गई है। इसको लेकर लोगों को जागरूक करें कि धार्मिक और सार्वजनिक स्थलों समेत कहीं भी 20 से ज्यादा लोग इकट्ठे ना हो। पारिवारिक समारोह को भी छोटा रखें वहां भी 20 से ज्यादा लोग इकट्ठा ना हों। जिला कलक्टर ने कहा कि हनुमानगढ़ जिले का मीडिया और प्रशासन आपस में समन्वय बनाए रखते हुए कार्य करें ताकि जिले में किसी भी प्रकार के भ्रामक समाचार ना फैल सके।

हनुमानगढ़ में अब तक एक भी कोरोना पीडि़त नहीं

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पीएमओ डॉ एमपी शर्मा ने बताया कि अभी तक जिले में एक भी कोरोना वायरस पीडि़त नहीं मिला है। पहले कोरोना के सैंपल जयपुर भेजे जा रहे थे अब बीकानेर मेडिकल कॉलेज में इसकी जांच की व्यवस्था हो गई है। वहां उन्हें सैंपल मिलने के 6 से 12 घंटे में जांच रिपोर्ट मिल जाती है। जिला अस्पताल में कोरोना पीडि़त के उपचार को लेकर भी पूरी व्यवस्था की गई है। टू बेरियर आइसोलेशन रूम बनाए गए हैं।

मास्क लगाना कितना ज़रूरी

मास्क को लेकर पीएमओ ने बताया कि जहां लोगों की आवाजाही ज्यादा है या भीड़भाड़ वाली जगह हो तो आप मास्क लगाएं। अन्यथा घरों में या कम लोगों वाली जगहों पर मास्क लगाने की जरूरत नहीं है। जिन्हें खांसी, जुकाम है वो मास्क जरूर लगाए। साथ ही उन्होने बताया कि कई लोग देखादेखी में मास्क तो लगा लेते हैं लेकिन उसे कई दिनों तक उसी एक मास्क को इस्तेमाल करते रहते हैं जो गलत है। मास्क को 6 घंटे लगाए रखने के बाद डिस्पोज करना होता है। डिस्पोज करते समय भी उसे लाइजोल सोल्युशन के 1 प्रतिशत स्प्रे करके डिस्पोज करें।

सैनेटाइजर ना मिले तो क्या करें

पीएमओ डॉ एमपी शर्मा ने सेनेटाइजर को लेकर बताया कि अगर सेनेटाइजर ना मिले तो पैनिक होने की जरूरत नही है। स्प्रिट से भी हाथ साफ किए जा सकते हैं जो बाजार में उपलब्ध है। इसके अलावा साबुन से भी बार बार हाथ धोये जा सकते हैं। साथ ही अपने हाथ मुंह के किसी भी हिस्से पर ले जाने से भी बचें।

पोंछा और स्प्रे किसका करें और कहां व कितनी बार करें

सीएमएचओ डॉ अरूण चमडि़या ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि जहां लोगों की आवाजाही ज्यादा है वहां हाइपो क्लोराइट के 1 प्रतिशत सोल्युशन का पोंछा दिन में दो तीन बार लगाने की आवश्यता है वहीं लाइजोल के 1 प्रतिशत सोल्युशन से वहां दो दिन स्प्रे भी करना चाहिए। सरकारी कार्यालयों में भी दिन में दो बार ऐसा किया जाना चाहिए। जिला अस्पताल में तीन बार किया जा रहा है। सभी प्राइवेट दफ्तरों में भी इसे लागू करें। इसमें दरवाजों के हैंडल, टेबल, कुर्सी के हत्थे इत्यादि जहां हाथ ज्यादा जाते हैं वहां लाइजोल स्प्रे करें या हाइपो क्लोराइट 1 प्रतिशत सोल्युशन का पोंछा लगाएं। हाइपो क्लोराइट और लाइजोल बाजार में सर्जिकल दुकानों पर मिलता है। वहां ना मिले तो ब्लिचिंग पाउडर 25 ग्राम को 10 लीटर पानी में डालकर पोंछा लगाया जा सकता है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला कलक्टर श्री जाकिर हुसैन के अलावा पीएमओ डॉ एमपी शर्मा, सीएमएचओ डॉ अरूण चमडि़या, पीआरओ श्री सुरेश बिश्नोई,चिकित्सा विभाग के आईईसी कॉर्डिनेटर श्री मनीष शर्मा उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें